आधार वर्चुअल आईडी

आधार अथॉरिटी यूआईडीएआई ने वर्चुअल आईडी की एक नई सुविधा शुरू की है. इसका इस्तेमाल करने पर आपको अपना आधार नंबर शेयर नहीं करना पड़ेगा, बल्क‍ि इसकी जगह आपको यह आईडी देना होगा |

AADHAR VIRTUAL ID

यूआईडीएआई ने जनवरी महीने में ही इस सुविधा को लाने की घोषणा कर दी थी. अब इसे लॉन्च कर दिया गया है. हालांकि फिलहाल इसका इस्तेमाल आप ऑनलाइन एड्रेस अपडेट करने के लिए कर सकते हैं, लेकिन जल्द ही सभी एजेंसियां इसे स्वीकार करना शुरू करेंगी

क्या है वर्चुअल आईडी –

वर्चुअल आईडी आधार नंबर की तरह ही अंकों का एक समूह होगा. आधार नंबर जहां 12 अंकों का होता है वहीं, वर्चुअल आईडी 16 अंकों की होगी कितनी बार कर सकेंगे जनरेट : वर्चुअल आईडी को आप अनगिनत बार जनरेट कर सकेंगे. यह आईडी सिर्फ कुछ समय के लिए ही वैध रहेगी. इससे इस आईडी का गलत इस्तेमाल होने की आशंका न के बराबर होगी.

ऐसे होगी जनरेट –

वर्चुअल आईडी आप खुद जनरेट कर सकते हैं. इसके लिए आपको यूआईडीएआई की वेबसाइट पर जाना होगा आपको होमपेज पर ‘वर्चुअल आईडी जनरेटर’ विकल्प पर क्ल‍िक करना होगा|जैसे ही आप इस पर क्ल‍िक करेंगे, वैसे ही आपके सामने नया व‍िंडो खुलेगा. यहां आपको अपना आधार नंबर एंटर करना होगा व् कैप्चा एंटर करने के बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा. ओटीपी एंटर करते ही आपका वर्चुअल आईडी जनरेट हो जाएगा

AADHAR VIRTUAL ID

कैसे करना होगा यूज

वर्चुअल आईडी जनरेट करने के बाद आपको जहां भी अपनी आधार डिटेल देनी है, वहां इस आईडी को देना होगा जैसे ही आप इस आईडी को सामने वाले को देंगे, तो वह इसकी मदद से आधार से जुड़ा काम निपटा सकेंगे

AADHAR VIRTUAL ID

ये है फायदा –

वर्चुअल आईडी से एजेंसियों को आपके आधार की पूरी डिटेल की एक्सेस नहीं मिलती है इससे वह सिर्फ उतनी ही जानकारी देख सकेंगे या पा सकेंगे, जितना उनके लिए जरूरी है|

सीमित‍ केवाईसी –

वर्चुअल आईडी की व्यवस्था आने के बाद हर एजेंसी आधार वेरीफिकेशन के काम को आसानी से और पेपरलेस तरीके से कर सकेंगी.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here