राज्यसभा में गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने का संकल्प पेश किया है. इसके साथ ही अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर के पुनर्गठन का संकल्प भी पेश किया है. अमित शाह के ऐलान के बाद विपक्ष ने सदन में काफी हंगामा किया.

  • अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने का संकल्प पेश किया
  • जम्मू-कश्मीर के पुनर्गठन के संकल्प भी पेश
  • अमित शाह के संकल्प पेश करने के बाद विपक्ष का हंगामा
  • 1947 में भारत के साथ आने का फैसला गलत था, 370 हटाना असंवैधानिक- महबूबा मुफ्ती

    जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने संसद में गृहमंत्री अमित शाह के बोलने के कुछ ही मिनट बाद दो ट्वीट किए. दोनों ट्वीट उन्होंने एक ही समय 11.39 बजे किए. पहले ट्वीट पर मुफ्ती ने कहा कि यह भारतीय लोकतंत्र का सबसे काला दिन है. जम्मू-कश्मीर के नेतृत्व ने 1947 में भारत के साथ जाने का जो फैसला लिया था, वो गलत साबित हो गया. भारत सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 को हटाने का फैसला अवैध और असंवैधानिक है.

    दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी धारा 370 पर मोदी सरकार के फैसले का स्वागत किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here