pooja panday

Aligarh police arrests Pooja Pandey पुलिस ने महात्मा गांधी के पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा की पूजा शुकन पांडेय को दिल्ली से नोएडा में एंट्री करते वक्त गिरफ्तार कर लिया है. मामले में अलीगढ़ पुलिस ने कुल 13 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था. अभी तक इस मामले में 7 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है.

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पुतले को गोली मारने के मामले में हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडेय को पुलिस ने दिल्ली से नोएडा में एंट्री करते वक्त गिरफ्तार किया है. पुलिस ने पूजा पांडेय के पति अशोक पांडेय को भी गिरफ्तार किया है. अभी तक पुलिस इस मामले में 13 में से 7 लोगो को गिरफ्तार की लिया है.

अब पुलिस पूजा पांडेय और उनके पति को बुधवार को कोर्ट में पेश करेगी. आपको बता दें कि महात्मा गांधी की पुण्यतिथि को उनके पुतले को पूजा शकुन पांडेय ने एयर पिस्टल से गोली मारी थी. इसके बाद इसका वीडियो भी सामने आया था, जिस्मे में पुतले में से खून भी निकल रहा था इस की बाद पुलिस ने मामला दर्ज किया था. इसके बाद पूजा पांडेय अंडरग्राउंड हो गई थीं, लेकिन पुलिस बुधवार को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस पिछले कई दिनों से पूजा पांडेय समेत मामले के सभी 13 आरोपियों की तलाश कर रही है.

महात्मा गांधी के पुतले पर गोलियां चलाने की घटना के बाद से हिंदू महासभा की पूजा शकुन पांडेय की कई पुरानी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं, जिनमें वह बीजेपी के दिग्गज नेताओं के साथ नजर आ रही हैं. इन वायरल तस्वीरों में पूजा शकुन पांडेय मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान के साथ भी दिख रही हैं.

इससे पहले अगस्त 2018 में पूजा शकुन पांडेय ने अपने बयान में कहा था, ‘हम नाथू राम गोडसे को पूजते हैं, जिस पर हमें गर्व है. वो महात्मा गांधी के हत्यारे नहीं थे. उन्हें भारतीय संविधान लागू होने से पहले सजा दे दी गई थी.’ पूजा पांडेय का कहना था की , ‘अगर नाथू राम गोडसे से पहले मैं पैदा हुई होती, तो मैं ही नाथू राम गोडसे की जगहें गांधी को गोली मार देती.’ और पूजा शकुन ने यह भी कहा था, ‘अगर आज भी कोई महात्मा गांधी पैदा होगा और देश बांटने की बात करेगा तो नाथू राम गोडसे भी इसी पुण्य भूमि पर पैदा होगा.’

पूजा शकुन पांडेय पहली बार उस समय सुर्खियों में आईं, जब उनको अखिल भारत हिंदू महासभा द्वारा स्थापित पहली कथित हिंदू अदालत का पहला जज नॉमिनेट किया गया. अखिल भारत हिंदू महासभा के मुताबिक शरिया अदालतों की तर्ज पर देश में हिंदू अदालतें स्थापित की जा रही हैं. वहीं, हिंदू अदालत बनाने पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी सरकार को नोटिस जारी करते हुए इस मामले पर जानकारी मांगी थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here